मोरिंगा (सहजन ) के पत्तो की सब्जी / Drumstick Leaves Fry

मोरिंगा (सहजन ) के पत्तो की सब्जी
  • Prep Time
    20
  • Cook Time
    20
  • View
    1,067

सहजन को मोरिंगा और इंग्लिश में ड्रमस्टिक बोलते है इसका बनस्पतिक नाम मोरिंगा ओलिफेरा है सहजन को दुनियाभर में सुपरफ़ूड कहा जाता है सहजन की पत्‍ती के पोषक तत्‍व और औषधीय गुणों के कारण इसका प्रयोग आयुर्वेदिक दवा के रूप में किया जाता है। सहजन के पत्तों (Drumstick Leaves) में विभिन्‍न प्रकार के विटामिन, खनिज पदार्थ, एंटीऑक्‍सीडेंट, क्‍लोरोफिल और पूर्ण अमीनो-एसिड की अच्‍छी मात्रा होती है। सहजन की सूखी पत्तियों के पाउडर को ताजी पत्तियों की अपेक्षा बहुत अधिक पसंद किया जाता है। ड्रमस्टिक की पत्तीयों में प्रोटीन, विटामिन सी, बीटा कैरोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम और एंटीऑक्‍सीडेंट उच्‍च मात्रा में होते हैं। इसके अलावा सहजन की पत्तियों में एस्‍कॉर्बिक एसिड, फोलिक और फेनोलिक भी शामिल होते हैं। इसके अलावा एंटी-बैक्‍टीरियलऔर एंटी-इन्‍फलामेशन गुण भी होते हैं। आइए सहजन की पत्तियों के फायदे के बारे में भी जान लेते है :-

१. सहजन की पत्तियों में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है जो भोजन को पचाने और आपकी भूख को नियंत्रित करने में सहायक होता है। जिससे आपको लंबे समय तक भोजन न करने की भावना को बढ़ावा मिलता है।जिसके कारण सहजन की पत्तियां आपके वजन को कम करने में प्रभावी योगदान देती हैं।
२. पत्तियों के अर्क में मधुमेह विरोधी और एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। इन गुणों की मौजूदगी के कारण सहजन की पत्ती के लाभ मधुमेह रोगी के लक्षणों को कम करने में सहायक होते हैं।
३. उच्‍च रक्‍तचाप या हाई ब्‍लड प्रेशर के उपचार के लिए सहजन की पत्तियों का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। क्‍योंकि सहजन की पत्तियों में पोटेशियम की अच्‍छी मात्रा होती है जो रक्‍तचाप को कम करने में प्रभावी होता है।
४.सहजन के पत्‍तों के रस में सिलिमारिन जैसे घटक होते हैं जो लिवर एंजाइम फंक्‍शन को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा यह घटक यकृत की प्रारंभिक क्षति से भी बचाता है
५. सहजन की पत्तिया आँखों की रौशनी बढ़ाने में सहायक है क्‍योंकि इनमें विटामिन ए और बीटा कैरोटीन की अच्‍छी मात्रा होती है। सहजन के पत्‍तों में भी विटामिन ए उच्‍च मात्रा में होता है जो गाजर की तुलना में 4 गुना अधिक है।
६. सहजन के पत्‍तों में बहुत सारे एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन होते हैं। ये घटक प्रतिरक्षा कोशिकाओं की कार्य क्षमता को बढ़ाने और वायरस या बैक्‍टीरिया के प्रभाव को कम करने में सहायक होते हैं।
७. हमारे शरीर में आयरन की कमी के कारण एनीमिया या खून की कमी हो सकती है। लेकिन इस प्रकार की समस्‍या से बचने के लिए सहजन के पत्‍ते फायदेमंद होते हैं।
८. सहजन की पत्तिया गर्भावस्‍था के दौरान शरीर में आयरन की कमी को रोकती है साथ ही स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध उत्‍पादन की क्षमता को उत्‍तेजित भी करती है।
९. कब्‍ज जैसी पाचन समस्‍याओं को दूर करने के लिए सहजन की पत्तियां लाभकारी मानी जाती हैं।
१०. सहजन के पत्‍ते की सब्‍जी का नियमित सेवन आपको गुर्दे की पथरी से राहत दिला सकती है। इसमें मौजूद सक्रिय घटक और अन्‍य पोषक तत्‍व गुर्दे की पथरी को तोड़ने और मूत्र क माध्‍यम से इसे बाहर निकालने में सहायक होते हैं।
११. सहजन की पत्तियों को सुपर फूड के रूप में उपयोग किया जाता है। यह मानव मस्तिष्‍क के लिए बहुत फायदेमंद खाद्य उत्‍पाद है। इसमें आयरन, जस्‍ता, ओमेगा-3 फैटी एसिड और अन्‍य पदार्थ होते हैं जो मस्तिष्‍क स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

सहजन की पत्तियों के इतने सरे फायदों के बीच कुछ नुकसान भी होते है आइये जानते है :-

१. अधिक मात्रा में सेवन करने से पाचन सम्बन्धी समस्या हो जाती है
२. शुगर पेशेंट को सहजन की पत्तियों का ज्यादा प्रयोग करने से बचना चाहिए क्योकि शुगर को लौ लेबल पर ले जाता है
३. विशेष प्रकार की दवाइयों में सहजन की पत्तियों का प्रयोग करने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछ ले.

सहजन की पत्तियों का यूज़ जूस बनाकर ,उसकी पत्तियों का पाउडर बनाकर या सब्जिया बनाकर कर सकते है तो आइये सहजन के पत्तो की सब्जी साउथ इंडियन तरीके से बनाते है मोरिंगा (सहजन ) के पत्तो की सब्जी (Drumstick Leaves Fry) बनाने के लिए जो सामग्री चाहिए वो इस प्रकार है :-

Ingredients

Nutrition

Drumstick leaves nutritional values at per 100gm

  • Daily Value*
  • Total Fat 0.3g
    0 %
  • Sodium 1.9mg
    0 %
  • Total Carbohydrate 1.7g
    1 %
  • Dietary Fiber 0.4g
    1 %
  • Protein 2g
    4 %
  • Iron 0.84mg
    5 %
  • Vitamin C [Ascorbic acid] 10.9 mg
    12 %

    Directions

    Step 1

    सबसे पहले मूंगफली को भून कर उसका छिलका निकाल लीजिये , मूंगफली के दानो को मिक्सी में डालकर हल्का सा चूरा कर दीजिये , ज्यादा पीसना नहीं है।

    Step 2

    सहजन की पत्तियों को डंठल से तोड़ कर धो लीजिये और पत्तियों को बारीक काट लीजिये।

    Step 3

    प्याज को बारीक और लम्बे स्लाइसेस में काट लीजिये।

    Step 4

    एक कड़ाही लीजिये उसमे तेल डालकर गरम कीजिये, तेल गरम हो जाने के बाद उसमे सरसो ,मेथी दाना ,हरी मिर्च ,और करीपत्ता डालिये।

    Step 5

    जब तड़का भुन जाये तो कटा हुआ प्याज डाले और हल्का ब्राउन हो जाने तक भूने।

    Step 6

    अब कटे हुए सहजन की पत्तियों को डाले और प्याज के साथ मिक्स कीजिये।

    Step 7

    स्वादानुसार सब्जी में नमक डाले मिक्स करे और सब्जी को एक प्लेट से ५ मिनट तक ढककर धीमी आंच पर पकाये।

    Step 8

    ५ मिनट के बाद सब्जी का ढक्कन हटाकर सब्जी चलाये और धीमी आंच पर ५ मिनट तक सब्जी को और भूने।

    Step 9

    जब सब्जी पक जाये तब मूंगफली का चूरा डाले और सब्जी में मिक्स करे।

    Step 10

    एक मिनट तक सब्जी को धीमी आंच पर भूने फिर घिसा हुआ नारियल सब्जी में डालकर मिक्स करे और गैस बंद कर दे।

    Step 11
    मोरिंगा (सहजन ) के पत्तो की सब्जी

    सहजन के पत्तो की नारियल वाली सूखी सब्जी तैयार है। इस सब्जी को आप रोटी ,चपाती के साथ में खा सकते है या चावल के साथ साइड डिश के रूप में ले सकते है।

    Step 12

    आप भी एक बार try कीजिये। आशा करती हु की आपको सब्जी का टेस्ट बहुत पसंद आएगा । सब्जी के बारे में अपनी राय जरूर दीजियेगा ।

    You May Also Like

    Leave a Review

    Your email address will not be published.