मिर्ची का सालन / Lajwab Hari Mirch ka Salan

मिर्ची का सालन
  • Prep Time
    20
  • Cook Time
    40
  • Serving
    4
  • View
    76

हरी मिर्च के बिना खाने का स्वाद अधूरा है इसका तीखा  स्वाद सबको भाता है और सेहत के लिए भी फायदेमंद होती है तो आइये थोड़ा इसके फायदे और नुकसान के बारे में जानते है

  • हरी मिर्च कई पोषकतत्त्वो जैसे- विटामिन ए, बी6, सी, आयरन, कॉपर, पोटेशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होती है।
  • रक्तचाप को नियंत्रित करने में हरी मिर्च काफी फयदेमंद होती है।
  • हरी मिर्च में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि‍सी भी प्रकार के संक्रमण से शरीर और त्वचा की रक्षा करते हैं।
  • हरी मिर्च में भरपूर मात्रा में विटामिन-सी होता है, जो रोगों के लड़ने की क्षमता में वृद्धि करता है
  • कैंसर से लड़ने और शरीर को सुरक्षित रखने के लिए भी हरी मिर्च फायदेमंद है। इसमें भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो शरीर की आंतरिक सफाई के साथ ही फ्री रेडिकल से बचाकर कैंसर के खतरे को कम करती है।
  • इसके सेवन से  फेफड़ों के कैंसर का खतरा भी कम होता है।
  • हरी मिर्च को मूड बूस्टर के रूप में भी जाना जाता है। यह मस्तिष्क में एंडोर्फिन का संचार करती है जिससे हमारा मूड काफी हद तक खुशनुमा रहने में मदद मिलती है।
  • विटामिन-ई से भरपूर हरी मिर्च हरी आपकी त्वचा के लिए भी फायदेमंद होती है।यह त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के साथ ही कसाव लाती है, जिससे त्वचा जवां और खूबसूरत दिखाई देती है।
  • हरी मिर्च पुरूषों में प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करती है।
  •  दिल के लिए भी हरी मिर्च काफी फायदेमंद होती है। एक शोध के अनुसार हरी मिर्च से हृदय से संबंधित सारी बीमारियां ठीक हो जाती हैं। इस से रक्त में थक्कों की समस्या ठीक हो जाती है।
  • यह पाचन तंत्र को मजबूत कर, पाचन क्रियाओं को दुरूस्त करती है। हरी मिर्च में फाइबर्स भी अच्छी मात्रा में होते हैं जिससे मिर्च भोजन का पाचन जल्दी होता है।
  •  इसमें प्रचुर मात्रा में पाया जाने वाला विटामिन-सी चोट या घाव को भरने के काम में सहायक होता है। विटामिन-सी हड्डि‍यों, दांतों और आंखों के लिए भी फायदेमंद  होता है।
  • आथ्रॉईटिस के मरीजों के लिए भी हरी मिर्च काफी फायदेमंद होती है। इसके अलावा यह शरीर के अंगों में होने वाले दर्द को भी कम करने में सहायक होता है।

हरी मिर्च का उपयोग

खाने के लिए हरी मिर्च का उपयोग विभिन्न तरीके से किया जा सकता है। नीचे जानिए, आप किस प्रकार हरी मिर्च को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं :

  1. हरी मिर्च का अधिकतर इस्तेमाल सब्जी बनाने के लिए किया जाता है, जहां हल्के और ज्यादा तीखेपन की जरूरत होती है। आप जरूरत के हिसाब से मिर्च की संख्या बढ़ा सकते हैं।
  2. खाने के साथ कच्ची मिर्च का प्रयोग सलाद में किया जाता है। जिन्हें ज्यादा तीखा खाना पसंद है, वो कच्ची मिर्च दोपहर या रात के भोजन के साथ ले सकते हैं।
  3. आप तली हुई मिर्च का सेवन भी भोजन के साथ कर सकते हैं। इसके लिए आप मिर्च को बीच में से हल्का लंबा काट लें और हल्का नमक छिड़कर तेल में अच्छी तरह फ्राई कर लें।
  4. इसके अलावा, आप हरी मिर्च का अचार भी बना सकते हैं।

हरी मिर्च का उपयोग के तरीकों के बाद आइए अब जान लेते हैं कि हरी मिर्च के अत्यधिक सेवन से क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

हरी मिर्च के नुकसान

  1. हरी मिर्च एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है, जो कई तरह से आपको लाभ पहुंचा सकती है, लेकिन इसका अत्यधिक सेवन निम्नलिखित समस्याओं का कारण बन सकता है
  2. जिन्हें ज्यादा तीखा पसंद नहीं, उनके लिए हरी मिर्च का अत्यधिक सेवन पेट में जलन और डायरिया का कारण बन सकता है।
  3. बवासीर से पीड़ित मरीजों के लिए हरी मिर्च नुकसानदायक हो सकती है।
  4. कुछ हरी मिर्च बहुत ज्यादा तीखी होती हैं, जो मुंह में अधिक जलन पैदा कर सकती हैं।

ये थे हरी मिर्च से होने वाले सबसे कारगर स्वास्थ्य लाभ। आशा करती हु की आप सभी को जानकारी पसंद आए होगी

आज मै आपको मिर्ची का सालन बनाना बताने जा रही हु इस सालन को आप बिरयानी अथवा जीरा राइस के साथ खा सकते है इसको बनाना बहुत ही आसान है मिर्ची का सालन बनाने के लिए आवस्यक सामग्री इस प्रकार है

Ingredients

Nutrition

Shishito Peppers nutritional value per 100gm

  • Daily Value*
  • Calories 20
  • Sodium 3mg
    1%
  • Total Fat 0g
  • Fiber 2g
    8%
  • Protein 1g
    1%
  • Vitamin A 105μg
    12%
  • Vitamin C 80.4mg
    134%

    Directions

    Step 1

    सबसे पहले एक कड़ाही लीजिये उसमे मूंगफली ,तिल ,जीरा ,खड़ा धनिया ,नारियल ,सूखा लालमिर्चा को मीडियम फ्लेम पर भून लीजिये  और एक तरफ ठंडा  होने के लिए रख दीजिये . कड़ाही में दो चम्मच तेल डालकर गरम करे उसमे लहसुन ,अदरक ,प्याज डालकर हल्का गुलाबी होने तक भून ले .ठंडा हो जाने के बाद इन सभी मसलो का एकदम फाइन पेस्ट बना लीजिये  .

    Step 2

    टमाटर को पीस ले और एक भगोने में दाल दे .अब इसमें गुड़ और इमली डालकर पांच मिनट तक उबाल ले और एक तरफ रख दे

    Step 3

    अब हरा मिर्च लीजिये उसके बीच में चीरा लगाकर मिर्च का बीज निकाल दीजिये (इसका बीज निकल देने से मिर्च का तीखापन कम हो जाता है बीज चाकू से निकालिये हाथो का इस्तेमाल मत कीजिये क्योकि इससे हाथो में जलन होने लगती है) कड़ाही में तेल डालकर मिर्ची को पक जाने तक भून लीजिये और एक तरफ रख दीजिये

    Step 4

    कड़ाही में तेल डालकर गर्म कीजिये . तेल गर्म हो जाने के बाद उसमे सरसो ,जीरा और कड़ीपत्ता डाले.

    Step 5

    अब सारे मसालों का पेस्ट , टमाटर का पका हुआ पेस्ट दाल दीजिये पानी डालिये .  जितना थिक आप ग्रेवी चाहते हो उतना ही पानी डालिये नमक डालकर मध्यम आंच  पर पकाइये. ग्रेवी को बीच - बीच में चलाते रहे . दस मिनट तक पकाने के बाद भुनी हुई हरी मिर्च दाल कर दस मिनट तक धीमी आंच पर पकाकर गैस बंद कर दीजिये . लीजिये तैयार है मिर्च का सालन .

    You May Also Like

    Leave a Review

    Your email address will not be published.