पोई साग (Malabar Spinach) सेहत का खजाना, इससे होने वाले 5 फायदे

भारत में विभिन्न प्रकार के साग मौजूद है जो की हमारे स्वस्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है उन्ही में से पालक की तरह दिखने वाला  पोई  साग (मालाबार पालक) कई तरह के स्वास्थ्य लाभ से भरपूर है। इसका वैज्ञानिक नाम : (बेसेला अल्बा / BASELLA ALBA) एक सदाबहार लता है। जो प्राय: लाल और हरी दो प्रकार की होती है। इसकी पत्तियाँ मोटी, मांसल तथा हरी होतीं हैं जिनका शाक-सब्जी के रूप में उपयोग किया जाता है। यह प्राकृतिक रूप से उगती है तथा वृक्षों और झाड़ियों का सहारा लेकर ऊपर चढ जाती है। इसके फल मकोय के फलों जैसे दिखते है जो पकने पर गाढ़े जामुनी रंग के हो जाते है। इन पके फलों से गुलाबी आभाा लिये वाल रंग का रस निकलता है।

यह भी पढ़ें :- मोरिंगा (सहजन ) के पत्तो की सब्जी

पोई के पत्तों का पालक के पत्तों जैसे पकौड़ा बनाने, साग बनाने में उपयोग होता है । इसे दाल में डालकर भी खाया जाता है । पोई साग (Malabar Spinach) नियमित खाने से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं. यह न सिर्फ शरीर में आयरन की कमी को पूरा करता है बल्कि इससे दिल और दिमाग दोनों स्वस्थ रहते हैं. आइये जानते है की पोई साग (Malabar Spinach) में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते है

मालाबार पालक या पोई साग में पाए जाने वाले पोषक तत्व :- मालाबार पालक या पोई साग को विटामिन ए (Vitamin A) के श्रेष्ठतम स्रोतों में शामिल किया गया है। इसकी 100 ग्राम पत्तियों में लगभग 8,000 यूनिट विटामिन ए (Vitamin A) पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन सी (Vitamin C), आयरन (Iron) और कैल्शियम (Calcium) भी अच्छी मात्रा में मौजूद होता है। मालाबार पालक को उर्जा का घर भी कह सकते हैं, क्योंकि इसमें प्रोटीन के साथ मैग्नीशियम, फास्फोरस और पोटेशियम भी मौजूद होता है।

Malabar spinach (Basella alba), raw, Nutritive value per 100 g.

PrincipleNutrient Value  Percent of RDA
Energy19 Kcal1%
Carbohydrates3.40 g2.5%
Protein1.80 g          3%
 Total Fat0.30 g1.5%
Cholesterol0 mg          0%
Vitamins  
Folates140 µg35%
Niacin0.500 mg3%
Pantothenic acid0.053 mg1%
Pyridoxine0.240 mg18%
Riboflavin0.155 mg13%
Thiamin0.050 mg4%
Vitamin A8,000 IU267%
Vitamin C102 mg170%
Electrolytes  
Sodium24 mg1.5%
Potassium510 mg          11%
Minerals  
Calcium109 mg11%
Copper0.107 mg12%
Iron1.20 mg          15%
Magnesium65 mg16%
Manganese0.735 mg32%
Selenium0.8 µg1.5%
Zinc        0.43 mg4%

आइये इस लेख के जरिये जानते है की मालाबार पालक के खाने से हमें क्या फायदे होते है :-

यह भी पढ़ें :- पालक पनीर रेसिपी

1. दिल को स्वस्थ रखने के लिए :- पुई साग में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है. यह शरीर में मौजूद बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करके  दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है. यह ब्लड फ्लो को सुधारता है, और दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करता है. वहीं इसमें पाए जाने वाले पोटैशियम ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखते हैं. दरअसल पोटैशियम एक मिनरल है जो एक अच्छा वैसोडाइलेटर होता है। यह रक्त के प्रवाह को बढ़ाने, दिल की धड़कन को नियंत्रित करने और ऑक्सीजन के स्तर में सुधार करने में मदद कर सकता है।

2. आयरन की कमी को पूरा करने के लिए :- मालाबार पालक में आयरन भरपूर मात्रा में होता  है. आयरन की कमी से हीमोग्लोबिन उत्पादन को नुकसान पहुंच सकता है और इसकी वजह से आपको एनीमिया हो सकता है पोई साग के सेवन से आपके शरीर में आयरन की कमी दूर होगी और आप  एनीमिया जैसी बीमारी से भी खुद को बचा सकते हैं.

3. हड्डियों को बनाये मजबूत :- पोई में कैल्शियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होता है  ये दोनों पोषक तत्व हड्डियाों के लिए बहुत जरूरी होते हैं. अगर आप पुई के साग का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो आपकी हड्डियों संबंधी समस्याएं दूर हो सकती हैं. इसके अलावा इसमें विटामिन सी भी प्रचूर मात्रा में होता है, जो आपकी इम्यूनिटी को मजबूत करने में मददगार है.

यह भी पढ़ें :- लहसुनि पालक रेसिपी

4. पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने के लिए :- पुई साग में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है।  फाइबर का सेवन उचित पाचन के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। आप पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए पुई साग का सेवन कर सकते  हैं। इसके अलावा यह पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में भी बेहद कारगर तरीका है। इसमें कैलोरी की मात्रा लगभग न के बराबर है, इसलिए अगर आप वजन कम करना चाहते है तो पुई साग का सेवन कर सकते है

5. अनिद्रा को दूर करे :- अगर आप अनिद्रा की समस्या से परेशान  हैं तो पुई साग आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। पुई साग में नींद को बेहतर बनाने की क्षमता है क्योंकि इसमें मैग्नीशियम और जिंक दोनों ही भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो शरीर में अहम भूमिका निभाते हैं। मैग्नीशियम शरीर में मांसपेशियों को रिलैक्स करने और अवशोषण को सुधार करने में मदद करते हैं।

जहा पोई साग के इतने फायदे है वही इसके कुछ नुकसान भी है आइये उसके बारे में भी थोड़ी सी जानकारी ले ली जाये ।

सावधानियाँ :- 

1. पोई साग में पोटैशियम की अधिकता होती है, इसलिए यह ब्लड प्रेशर को कम करता है। तो अगर कोई लो ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित है तो इस साग को न खाएं।

यह भी पढ़ें :- चौराई का दाल / Pappu

2.डायरिया होने पर पोई साग को न खाएं, क्योंकि पोई साग में सोल्युबल और इसोल्युबल फाइबर होता है जो कि डायरिया की परेशानी को और भी बढ़ा  सकता है।

3. पोई साग में ऑक्सलेट होता है और इसे ज्यादा खाने से किडनी में स्टोन की समस्या हो सकती है।

4. पोई साग का ऑक्सालेट अमाउंट कम करने के लिए इसे अच्छे पकाना जरूरी है। अच्छे से पका हुआ साग ही खाएं। 5. सेंसटिव स्किन वाले लोगों में यह गले में खुजली, आंखों में खुजली और स्किन रैशेज की समस्या पैदा कर सकता है। अगर आप एलर्जिक हैं तो पहले इस साग को जांच लें। 

आशा करती हु इस लेख से आप मालाबार पालक (पोई साग ) के फायदे और नुकसान के बारे में जान गए होंगे . पूरा लेख पड़ने के लिए आपका धन्यवाद. लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published.